Thursday, April 03, 2014

ज़िन्दगी ये खूबसूरत है बहुत, हो सके तो आँख भर के देख तू।
इक नया मानी तुझे मिल जायेगा, मेरे लफ़्ज़ों में उतर के देख तू।



No comments: