Wednesday, December 17, 2014

132 बच्चों की स्कूल में की हत्या

पाकिस्तानी तालिबान ने 132 बच्चों की स्कूल में की हत्या

पाकिस्तानी तालिबान के आतंकवादियों ने पेशावर में आर्मी स्कूल पर हमला कर 141 लोगों की हत्या कर दी। पाकिस्तानी सेना ने बताया कि इनमें से 132 स्कूली बच्चे हैं। पाक आर्मी ने कहा कि इस हमले में शामिल सभी सात आतंकी मारे गए हैं। हमले में जख्मी बच्चों को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। हॉस्पिटल में पूरी तरह से मातम का माहौल है। परेशान पैरंट्स बच्चों की सिसकते हुए तलाश करते मिले। तालिबान की पाकिस्तान में इस घातक हमले की चारों तरफ से घोर निंदा हो रही है।

अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है, "सिडनी और पेशावर की घटना से साबित हुआ है कि स्थानीय आतंकवाद का ख़तरा दरअसल वैश्विक आतंकवाद का ख़तरा भी है. इसलिए अमरीका ज़्यादा देशों के साथ सहयोग कर रहा है."

वहीं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा है कि पाकिस्तान से आने वाली ख़बर सदमे में डालने वाली है और ये बहुत डरावना है कि बच्चों को महज़ स्कूल जाने के लिए मारा जा रहा है जबकि अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति ने इस ग़ैर-इस्लामिक बताया है.

वहीं नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, "यह असवंदेनशील कार्रवाई है, जिसकी बर्बरता बयां नहीं की जा सकती.. जिसमें इंसानों में से भी सबसे मासूमों की जान ली गई है- स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे."

नोबेल पुरस्कार जीतने वाली मलाला यूसुफ़ज़ई ने भी हमले की निंदा की है और कहा, "इस घटना से मेरा दिल टूट गय है. मैं इस कायरतापूर्ण कदम की मैं निंदा करती हूँ और पाकिस्तान की सरकार और सेना के साथ हूँ. मैं और दुनिया के लाखों लोग इन बच्चों के लिए शोक मना रहा हैं लेकिन हम हार नहीं मानेंगे."

No comments:

छोटी कविता

जनता जो भीड़ है भीड़ जो गुम है.. गुम बोले तो बेबस बेबसी यानी घुटन घुटन बोले तो अंत अंत तो मौत है भीड़ ने एक चेहरा चुना चेहरे पर एक पह...